Category: कहानी

भाई जैसा : अकबर बीरबल की हिन्दी कहानियाँ

भाई जैसा : अकबर बीरबल की हिन्दी कहानियाँ भाई जैसा :बादशाह अकबर तब बहुत छोटे थे, जब उनकी मां का देहांत हुआ था। चूंकि वह बहुत छोटे थे, इसलिए उन्हें मां के दूध की दरकार थी। महल में तब एक दासी रहती थी, जिसका शिशु भी दुधमुंहा था। वह नन्हें

मोती बोने की कला :अकबर बीरबल की हिन्दी कहानियाँ

मोती बोने की कला अकबर बीरबल की हिन्दी कहानियाँ मोती बोने की कला :एक दिन बादशाह अकबर के दरबार में जोरों का कोलाहल सुनाई दिया। सभी लोग बीरबल के खिलाफ नारे लगा रहे थे, “बीरबल बदमाश है, पापी है, इसे दंड दो” बादशाह ने भारी जनमत को बीरबल के खिलाफ

बीरबल की खिचड़ी : अकबर बीरबल कहानी

बीरबल की खिचड़ी :एक दफा शहंशाह अकबर ने घोषणा की कि यदि कोई व्यक्ति सर्दी के मौसम में नर्मदा नदी के ठंडे पानी में घुटनों तक डूबा रह कर सारी रात गुजार देगा उसे भारी भरकम तोहफ़े से पुरस्कृत किया जाएगा। एक गरीब धोबी ने अपनी गरीबी दूर करने की

आदमी एक रूप तीन : अकबर & बीरबल कहानी

अकबर बीरबल की हिन्दी कहानियाँ आदमी एक रूप तीन :एक बार बादशाह अकबर ने बीरबल से पूछा, “क्या तुम हमें तीन तरह की खूबियां एक ही आदमी में दिखा सकते हो?” “जी हुजूर, पहली तोते की, दूसरी शेर की, तीसरी गधे की। परन्तु आज नहीं, कल।” बीरबल ने कहा। “ठीक

अब तो आन पड़ी है :अकबर & बीरबल कहानी

अकबर बीरबल की हिन्दी कहानियाँ अकबर बादशाह को मजाक करने की आदत थी। एक दिन उन्होंने नगर के सेठों से कहा- ”आज से तुम लोगों को पहरेदारी करनी पड़ेगी।” सुनकर सेठ घबरा गए और बीरबल के पास पहुँचकर अपनी फरियाद रखी। बीरबल ने उन्हें हिम्मत बँधायी, ”तुम सब अपनी पगड़ियों