माँ की तरह…

माँ की तरह… कोई और ख़्याल रखे…
ये तो बस… ख़्याल ही हो सकता है…!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *