मस्त नजरों👁️ देख लेना था,

मस्त नजरों देख लेना था,
गर तमन्ना थी आजमाने की…!!

हम तो यूंही बेहोश हो जातें,
क्या जरूरत थी शर्मा के…
मुस्कुराने की…!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *