2 line shayari

मौका।

अंदर की घुटन का… हमें अंदाज़ा नहीं था…वर्ना ये मौका।… और हवादार बनाते…!! sad shayari

2 line shayari

बेरुख़ी

किसी दिन हाथ धो बैठोगे हम से… तुम्हें चस्का बहुत है बेरुख़ी का…!! shayari

2 line shayari

रात

रात भर, रात को… एक रात जगाया जाए… रात को मालूम तो हो… हम पे गुजरती क्या है…!!

Sad Shayari

दो – चार पल मुझसे बात तो कर

अब कहा लगता की वो कसमे निभाह रही है | मेरी खूशी के लिये बस रसमे निभाह रही है | दो – चार पल मुझसे बात तो कर ठहर तो सही | ऐसी कौनसी जल्दी है तु कहा जा रही है | Ab kaha lagata kee vo kasame nibhaah rahee hai . Meree khooshee ke liye bas rasame nibhaah rahee…

Continue Reading

Sad Shayari

अपना आशियाना खुद ही बर्बाद कर दिया हमने

अपना आशियाना खुद ही बर्बाद कर दिया हमने | जहॉ खूशियो से उसका आबाद कर दिया हमने | काफी टाइम से एक परिंदा उडने की चाह मे था | अपने दिल के पिंजरे से आजाद कर दिया हमने | Apana aashiyaana khud hee barbaad kar diya hamane . Jaho khooshiyo se usaka aabaad kar diya hamane . Kaaphee taim se…

Continue Reading

Sad Shayari

जैसा मै हू वैसा ही दिख रहा हू.

जैसा मै हू वैसा ही दिख रहा हू | इश्क के बाजार मे बिक तो रहा हू | क्या जख्म सीना फाडकर ही दिखाने पडेंगे | अरे जितना भी दर्द है लिख तो रहा हू | Jaisa mai hoo vaisa hee dikh raha hoo . Ishk ke baajaar me bik to raha hoo. Kya jakhm seena phaadakar hee dikhaane padenge.…

Continue Reading

Love Shayari

प्यार करने के लिए आदत से फकीर चाहिये .

दूनिया भी उसे बहुत करीब से चाहिये / उसे मै भी पसंद हू ओर रकीब भी चाहिये // आज उसका दामन मुझसे छुडाकर ले गया वो / ओर लोग कहते है उसे पाने के लिये नशीब चाहिये // अब इस बात का फैसला तुझपर है “गौरव” / तुझे जिन्दगानी पसंद है या नसीब चाहिये // सुना है तु रकीबो की…

Continue Reading

Love Shayari

हालातो का असर है या मौसम बदल रहा है

आज वो सक्स मुझे धुंधला – धुंधला सा लग रहा है / हालातो का असर है या मौसम बदल रहा है // कहते हो मेरा जिक्र भी नही है शबे महफिल मे / फिर मेरे ही नाम से ये शोर क्यो चल रहा है // मुझे भूल जाने की हसरत है या मुझे मिटाना चाहाता है / जरा मुझे भी…

Continue Reading

Sad Shayari

अरे मै टुटा नही हू

दूर जाना चाहाता है ये सनक कैसी है | वो भूल जाना चाहाता है ये सनक कैसी है | जर्रा – जर्रा कतरा – कतरा बिखर तो रहा हू | अरे मै टुटा नही हू तो ये खनक कैसी है | Door jaana chaahaata hai ye sanak kaisa hai | Vah bhool jaana chaahatee haita hai yah sanak kaisa hai…

Continue Reading

Sad Shayari

जाते हुए मुसाफिर को रोका नही करता मै

जाते हुए मुसाफिर को रोका नही करता मै | ज्यादा प्यार वाले के बारे मे सोचा नही करता मै | करने के लिए सारे ऐब किये है मैंने | पर किसी के साथ मे धोखा नही करता मै | Jaate hue musaaphir ko roka nahee karata mai.Jyaada pyaar vaale ke baare me socha nahee karata mai.Karane ke lie saare aib…

Continue Reading