अंदर के हादसों पे किसी की नज़र नहीं…

अंदर के हादसों पे किसी की नज़र नहीं…
हम मर चुके हैं और हमें इस की ख़बर नहीं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *