Broken Heart Shayari in Hindi

broken heart shayari

दोस्तों इस आर्टिकल में आपको सभी तरह की Broken Heart Shayari in Hindi , Broken heart shayari in hindi 2 line , broken heart shayari in hindi for girlfriend , broken heart shayari in hindi for boyfriend ,broken heart shayari in hindi text ,broken heart shayari in hindi images , broken heart shayari in hindi download , broken heart shayari in hindi ,broken heart shayari in hindi status .

हाल यह है के तेरी याद में गम हूँ,
सब को मेरी और मझे को तेरी पड़ी रहती है।
इक उम्र तक मैं जिसकी जरुरत बना रहा ,
फिर यूँ हुआ कि उस की जरुरत बदल गई ..
ये सर्द शामें भी किस कदर ज़ालिम है,
बहुत सर्द होती है, मगर इनमें दिल सुलगता है।
तोड़ा कुछ इस अदा से तालुक़ उस ने ग़ालिब,
कि सारी उम्र हम अपना क़सूर ढूँढ़ते रहे।
ऐ चाँद चला जा क्यूँ आया है तू मेरी चौखट पर,
छोड़ गया वो शख्स जिस के धोखे मे तुझे देखते थे।
टूटे हुए दिल भी धड़कते है उम्र भर,
चाहे किसी की याद में या फिर किसी फ़रियाद में।
बेपनाह मोहब्बत का आखिरी पड़ाव…
बस एक ख़ामोशी…

What is Broken heart shayari in hindi 2 line

तारे और इंसान में कोई फर्क नहीं होता,
दोनो ही किसी की ख़ुशी के लिऐ खुद को तोड़ लेते हैं।
तोड़ा कुछ इस अदा से तालुक़ उस ने ग़ालिब,
कि सारी उम्र हम अपना क़सूर ढूँढ़ते रहे।
ज़र्रा ज़र्रा बिखर गया तेरी याद में,
कतरा कतरा ही सही दर्द में मोहलत दे दे।
मुफ्त में नही सीखा उदासी में मुस्कुराने का हुनर…
बदले में जिन्दगी की हर खुशी तबाह की है…
मुझे किसी के बदल जाने का कोई गम नही,
बस कोई था जिससे ये उम्मीद नही थी।
उदास हो लेते हैं तुझे सोचकर ।
हमारे लिए इबादत ये भी है ।।
ये वहम भी तेरा एक दिन धुल जाएगा ए इंसां,,,,
ज़िदंगी इतनी बुरी भी नहीं जितनी तूने देखी थी,,,,

How To Find Broken Heart Shayari in Hindi ?

हवा गुजर गयी,पत्ते हिले भी नहीं..
वो मेरे शहर मे आये और मिले भी नहीं…
हमने भी कभी चाहा था……… इक ऐसे शख्स़ को……………….. ………जो आइने से भी नाजुक था…………. मगर था पत्थर का……..
दूरियाँ जब बढ़ी तो गलतफहमियां भी बढ़ गयी।
फिर तुमने वो भी सुना जो मैंने कहा ही नही।
भीगी नहीं थी मेरी आँखें कभी वक़्त के मार से,
देख तेरी थोड़ी सी बेरुखी ने इन्हें जी भर के रुला दिया।
ये दिल बुरा ही सही पर सरे बाज़ार तो ना कहो,
आखिर तुमने भी इसमें कुछ दिन गुजारे है।
ऐ दिल मत कर इतनी मोहब्बत किसी से,
इश्क में मिला दर्द तू सह नहीं पायेगा,
टूट कर बिखर जायेगा अपनों के हाथों,
किसने तोड़ा ये भी किसी से कह न पायेगा।
किसी टूटे हुए दिल की आवाज मुझे कहिये,
तार जिसके सब टूटे हों वो साज़ मुझे कहिये,
मैं कौन हूँ और किसके लिए जिंदा हूँ,
मैं खुद नहीं समझा वो राज मुझे कहिये।
उन के देखे से जो आ जाती है मुँह पर रौनक़ वो समझते हैं कि बीमार का हाल अच्छा है
हम आह भी करते हैं तो हो जाते हैं बदनाम..
वो क़त्ल भी करते हैं तो चर्चा नहीं होता……
रंजिशे तो होती है मोहब्बत में ,
मगर .. तुमसे किसनें कहा कि मुझे अधुरा कर दो..
कैसी मुहब्बत हैं तेरी महफ़िल मे मिले तो,
अन्जान कह दिया, तनहा ज़ो मिले तो जान कह दिया।
वो रोया तो ज़रूर होगा, खाली कागज़ देखकर,
ज़िन्दगी कैसी बीत रही है.. पूछा था सवाल उसने।
ना जाने किस दिल से मुस्कुरातेँ हैँ…
वो जो अंदर से टूट जाते हैँ.!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *